Posts

Showing posts from June, 2016

कैसे न पिघले

जी तो करता है

दिल की बात

वो क्या थे

ढाई अक्षर की बात

बड़ी मुद्दत से

डर लगता है

बस इतनी दुआ

मत सोना कभी

ऐ अच्छे वक्त

उनकी दीवानगी

सुना है शायरी

लोग कहते है

आँसुओ के गिरने

यूँ तो

सुनो एक बात

रूला कर उसने

रोने का सबब

हैरान था

तू बेशक

छूप छूप कर